डीजीपी उत्तराखंड पुलिस अनिल कुमार रतूड़ी सोमवार को आज सेवानिवृत हो गए हैं। उनकी जगह 1989 बैच के पुलिस अधिकारी अशोक कुमार ने उत्तराखंड के 11वें डीजीपी के तौर पर कार्यभार ग्रहण कर लिया है। डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी ने नए डीजीपी अशोक कुमार को पुलिस बैटन सौंपी।

सोमवार को आज इससे पूर्व पुलिस लाइन में राज्य के 10वें डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी की विदाई के अवसर पर परेड का आयोजन किया गया। पुलिस लाइन में सुबह करीब नौ बजे से परेड की शुरुआत की गई। इसके लिए पुलिस लाइन में सुरक्षा व्यवस्था भी बढ़ाई गई। डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी को डीजी अशोक कुमार ने पुलिस लाइन में रिसीव किया। इसके बाद भव्य विदाई परेड आयोजित की गई।

डीजीपी अनिल रतूड़ी के पुलिस मुखिया के तौर पर तीन साल से अधिक का कार्यकाल रहा है। आज सेवानिवृत्त होने के दिन उनकी तीन साल की उपलब्धियों को बताया गया। अपने कार्यकाल में उन्होंने गुमशुदा बच्चों को तलाशने के लिए ऑपरेशन स्माइल चलाया गया।

सीपीयू की तर्ज पर पहाड़ों में हिल पेट्रोल यूनिट शुरू की गई। इस दौरान ई-चालन व्यवस्था की शुरुआत की गई। इस अवधि में 6 हजार से ज्यादा पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिलाया गया। वर्ष 2018 में माउंट एवरेस्ट पर पुलिस टीम ने चढ़ाई की। कॉमन वेल्थ ह्यूमन राइट्स इनिशिएटिव की इंडिया जस्टिस रिपोर्ट में उत्तराखंड पुलिस मानव संसाधनों के उपभोग में दूसरे स्थान पर रही। पिछले वर्ष देश के 15000 थानों में उत्तराखण्ड के तीन थाने टॉप 10 में शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here