सूबे के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बीते तीन रोज के सेल्फ क्वारंटीन के बाद आज से कामकाज संभाल लिया। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा कोरोना रोगी की मृत्यु होने पर उसके आश्रित को एक लाख रुपये की सहायता राशि दी जाएगी।
सीएम ने कहा कि कोरोना से लड़ाई में सख्ती और जागरुकता हम सभी लोगों के लिए बेहद जरूरी है। उन्होंने मुख्यमंत्री आवास पर कोरोना की रोकथाम को लेकर प्रदेश के जिलाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उन्हें कई दिशा-निर्देश दिए।
जानें यह भी-  दो दिन बंद रहेगा दून, सब्जी मण्डी नहीं खुलेगीः सीएम
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने इस बात पर खास जोर दिया कि जिलों में सभी जिलाधिकारी कंटेनमेंट जोन हेतु जारी गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करवाना सुनिश्चित करें।
इस दौरान उन्होंने कहा कि कंटेनमेंट जोन के बाहर भी शारीरिक दूरी एवं मास्क की अनिवार्यता के लिए आमजन को अभी भी लगातार जागरूक किए जाने की आवश्यकता है और इस दिशा में भी वास्तविकता के धरातल पर अभियान चलाएं और जो लोग इसका पालन न करें उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए।
COVID-19 Update:  प्रदेश में कोरोना के 8 नये मामले, संख्या पहुंची 1153
मुख्यमंत्री ने क्वारंटीन सेंटरों में आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। उन्हांेने होम क्वारंटीन को भी गंभीरता से लिए जाने को कहा। साथ ही उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों की सुविधाओं पर भी विशेष ध्यान दिया जाए।
खेती किसानीः  सबसे ऊंचा धनिया का पौधा उगाकर गिनीज बुक में कराया नाम दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here