गैरसैंण। उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी भराड़ीसैंण (गैरसैंण) में आज शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तिरंगा फहराया। सीएम श्री रावत का भराड़ीसैंण(गैरसैंण) विधानसभा में दो दिन कैंप करने का कार्यक्रम है। इस दौरान विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास भी किया। इस अवसर पर गैरसैंण के लिए सीएम ने करोड़ों रूपए की घोषणाएं भी की।

स्वतंत्रता दिवस पर आज मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत भराड़ीसैंण गैरसैंण कार्यक्रम में पहुंचे और विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के साथ ध्वजारोहण कार्यक्रम में भाग लिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरसैंण का सुनियोजित विकास होगा। गैरसैंण के विकास को रोडमैप के लिए एक कमेटी का गठन होगा। गैरसेंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाना समय की जरूरत थी। कोविड 19 में सरकार तेजी के साथ कार्य कर रही है। प्रदेश में हेल्थ सिस्टम पहले के मुकाबले बेहतर हुआ है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने आज गैरसैंण के लिए कई घोषणाएं की। गैरसैंण में 50 बेड का जिला अस्पताल बनाया जाएगा। भराड़ीसैंण विधानसभा में मिनी सचिवालय की स्थापना की जाएगी। गैरसैंण में नेटवर्किंग का विस्तारीकरण कराया जाएगा। गैरसैंण में लोक निर्माण विभाग का 8 कक्ष का निरीक्षण भवन बनेगा। गैरसैंण ब्लॉक में कोल्ड स्टोरेज एंव फूड प्रोसेसिंग प्लांट बनाया जाएगा। भराड़ीसैंण में ईको पार्क की स्थापना की जाएगी। राजकीय आईटीआई गैरसैंण का भवन निर्माण कराया जाएगा। इसके बाद उन्होंने विभिन्न विभागीय योजनाओं के शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम मुख्यमंत्री आवास भराड़ीसैण में करेंगे।

मुख्यमंत्री रविवार को सुबह आठ बजे गांव सारकोट, छानी-कोदियाबगड़, दूधातोली पैदल मार्ग से पेशावर कांड के नायक वीरचंद्र सिंह गढ़वाली जी की समाधि स्थल पर पहुंचेंगे और पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री जिला पिथौरागढ़ के आपदा प्रभावित क्षेत्र गलाती, कालिका, धारचूला, बरम का हवाई सर्वेक्षण कर बरम में आपदा प्रभावित राहत शिविरों का निरीक्षण करेंगे। वन विश्राम गृह पिथौरागढ़ में अपराह्न पांच बजे पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रात्रि विश्राम पिथौरागढ़ में ही करेंगे। मुख्यमंत्री का सोमवार को सुबह राजधानी देहरादून लौटने का कार्यक्रम है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here