वैश्विक महामारी कोरोना के कारण संपूर्ण भारत में लॉकडाउन जारी है। जैसा की विदित है की यह लॉकडाउन-4 है जिसके समाप्त होने का अंतिम दिन 31 मई रविवार को है। इसके पश्चात सरकार द्वारा लॉकडाउन-5 के संकेत दिए जा चुके हैं।

बीते रोज केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा दो मीटिंग की गई, जिसमें लॉकडाउन-4 के समाप्त होने के बाद नयी गाइडलाइन जारी करने की बात पर चर्चा हुई। गौरतलब है कि इस मीटिंग में 13 ऐसे शहरों को चुना गया है जहां कोरोना के मामले 70% तक हैं , इन शहरों के लिए अन्य शहरों से सख्त नियम बनाये गए हैं तथा इन शहरों में ब्व्टप्क्-19 महामारी की मॉनिटरिंग भी अधिक की जाएगी।

उत्तराखण्ड अपडेट-  पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज की पत्नी कोरोना पाजिटिव

इन सभी बातों की जानकारी बीते रोज हुई बैठक से प्राप्त हुई है जिनमें से पहली मीटिंग केंद्रीय कैबिनेट सचिव राजीव गाबा की अध्यक्षता में की गई तथा दूसरी मीटिंग केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की अध्यक्षता में हुई थी। गौरतलब है की लॉकडाउन-4 के बाद गृह मंत्रालय द्वारा जो गाइडलाइन्स दी गई है उसमे राज्यों के अधिकारों को बढ़ाया गया है। जिसके अनुसार अब राज्यों के पास यह अधिकार होगा कि वह अपने अनुसार राज्यों में कोरोना महामारी से निपटने के लिए नियम बना सकेंगे, परन्तु केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए नियमों का अभी भी राज्यों द्वारा अनिवार्य रूप से पालन किया जाना होगा।

लाॅकडाउन-5:  चरणबद्ध ढंग से अनलॉक की तैयारी, जानें क्या मिली छूट

केंद्र सरकार द्वारा जारी की गई सूची में उन सभी मेट्रो शहरों को शामिल किया गया है जहां कोरोना महामारी ने सबसे अधिक आतंक फैलाया हुआ है। नीचे दी हुई सूची में उन 13 शहरों के नाम अंकित किये गए हैं, जिनमें नयी गाइडलाइन के अनुसार अधिक सख्त नियम होंगे तथा इन शहरों में छूट भी कम दी जाएगी।

  • दिल्ली
  •  मुंबई
  • चेन्नई
  • अहमदाबाद
  • हैदराबाद
  • पुणे
  • ठाणे
  • इंदौर
  • जयपुर
  • जोधपुर
  • कोलकाता और निकटवर्ती हावड़ा
  • चेंगलपट्टू
  • तिरुवल्लुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here