देहरादून। प्रदेश में कांग्रेस के एक नेता के भाई के खिलाफ धोखाधड़ी का एक और मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि उसने कई लोगों से प्लॉट बेचने के नाम पर ठगी की है। आरोप है कि पीड़ितों ने उसे एक करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान कर दिया, लेकिन उसने किसी को भी अभी तक कोई प्लॉट नहीं दिया है।

विदित हो कि पहले भी सचिन उपाध्याय के खिलाफ राजपुर थाने में भी एक मुकदमा दर्ज है। इस मुकदमे वह जेल भी जा चुका है और उसकी पत्नी नाजिया युसुफ फरार चल रही है।

गुरुग्राम निवासी प्रमोद बड़ोनी ने शिकायत दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया है कि वह सचिन उपाध्याय को काफी समय से जानते थे। वर्ष 2011 में सचिन ने उनसे कहा कि शीशमबाड़ा में वह 38 हजार वर्गमीटर भूमि पर प्लाटिंग का कार्य कर रहा है और इन प्लॉट को लेने के लिए उसने तमाम योजनाएं भी दी। बताया कि इन योजनाओं के तहत किश्तों में पैसे देने की बात भी लोगों से कही। इसके बाद प्रमोद बड़ोनी के साथ कई और लोगों ने भी सचिन से प्लॉट बुक कराए। इसके एवज में इन लोगों ने उसे 1.07 करोड़ रुपये का भी भुगतान कर दिया।

डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि जांच में आरोप सही पाए गए हैं। ऐसे में आरोपी के खिलाफ पटेलनगर थाने में धोखाधड़ी के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले में अभी और भी जांच की जा रही है। यदि उसके खिलाफ और भी साक्ष्य मिलते हैं तो उनके हिसाब से कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here