नैनीताल जिले के रामनगर निवासी 12 साल के सन्नी को वीरता पुरस्कार देने के लिए उत्तराखंड राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग आगे आया है। आयोग ने उत्तराखंड बाल कल्याण परिषद को इस संबंध में पत्र भेजा है, जिसमें सन्नी को वीरता पुरस्कार देने के लिए सिफारिश की गई है।

राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती ऊषा नेगी ने उत्तराखंड बाल कल्याण परिषद के सचिव को पत्र भेज कर अवगत कराया कि बीते 9 अगस्त 2020 को रामनगर में मोतीमहल के रवि कश्यप ने मानसिक तनाव के कारण बाईपास पुल से कोसी नदी में छलांग लगा दी थी। वहां मौजूद लोग उसे देखते रह गए, जबकि आठवीं कक्षा में पढ़ने वाले 12 वर्ष के सन्नी ने अपनी जान की परवाह न करने हुए नदी में डूबते रहे रवि कश्यप को बचा लिया।

आयोग की अध्यक्ष ने परिषद के सचिव को पत्र भेज कर बहादुर सन्नी की वीरता को देखते हुए उसे वीरता पुरस्कार के लिए चयनित करने की सिफारिश की है। इसके लिए जिलाधिकारी नैनीताल से भी रिपोर्ट प्राप्त की जाए। आयोग ने परिषद से 15 दिन के भीतर कार्यवाही की रिपोर्ट देने को कहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here