6 C
New York
Thursday, May 6, 2021
spot_img
Home Blog

कोविड कर्फ्यू: देहरादून में कोरोना कर्फ्यू अब 10 मई तक, आदेश जारी

0
कोविड कफ्र्यूः तीन मई तक यह व्यवस्था रहेगी जारी, जानें कब क्या रहेगा खुला बंद और किसे मिलेगी छूट

उत्तराखंड में लगातार बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए देहरादून में कोविड कर्फ्यू की अवधि 10 मई तक बढ़ा दी है। जिलाधिकारी द्वारा आज बुधवार को इसके आदेश जारी किए गए।

————————————————-

देहरादून। आज सोमवार शाम 7 बजे से देहरादून में लागू कोविड कर्फ्यू के दौरान रोजमर्रा की आवश्यक सामग्री फल सब्जी की दुकानें, डेरी, बैकरी, अंडा, मीट-मछली वैध (लाईसेंसधारी) की दुकानें, राशन की दुकानें, सरकारी सस्ता गल्ला की दुकानें तथा पशुचारा की दुकाने अपरान्ह 04 बजे तक ही खुली रहेंगी। पेट्रोल पम्प व गैस आपूर्ति तथा दवा की दुकानें पूरे समय खुली रह सकेंगी।

सोमवार को आज जिलाधिकारी डा0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कलेक्टेट, ऋषिपर्णा सभागार में प्रेस वार्ता कर कोविड कर्फ्यू के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों को आवागमन में छूट रहेगी। निजी एवं सार्वजनिक वाहन का आवागमन प्रतिबन्धित रहेगा। जिसे सामान लेना है वह अपने नजदीकी दुकानों से सामान ले सकते हैं, वाहनों से उन लोगों को जाने की छूट होगी, जो मेडिकल, टीकाकरण या कोराना का टेस्ट कराने जा रहे हैं या कोई अन्य इमरजैंसी है ऐसे वाहनों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर आवागमन की छूट होगी। जिन चीजों में छूट दी गयी है उनके लिए पास की आवश्यकता नही होगी। अनावश्यक घूमने वाले व्यक्तियों पर कार्यवाही की जाएगी।

डीएम ने बताया कि अन्तर्राज्जीय आवागमन भारत सरकार की गाइड लाइन का इस पर कोई प्रतिबन्धित नहीं है, किन्तु सभी को देहरादून को स्मार्ट सिटी की वेबसाईट http://smartcitydehradun.uk.gov.in पर रजिस्टेशन करना एवं आने के 72 घण्टे के भीतर की आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य होगा। अन्य राज्यों से आने वाले व्यक्तियों जिनको होटल, लाॅज गेस्ट हाउस आदि स्थानों पर ठहरना हो, उनको भी स्मार्ट सिटी की बेबसाईट पर रजिस्टेशन एवं कोविड नेगिटिव रिपोर्ट प्रस्तुत करना अनिवार्य है।

विवाह समारोह में अनुमति हेतु नगर मजिस्टेट एवं सम्बन्धित उप जिलाधिकारी कार्यालय से अनुमति प्राप्त की जाएगी। इस दौरान आने वाले 50 व्यक्तियों की नाम की सूची अनुमति के आवेदन के साथ देनी होगी। सार्वजनिक हित एवं अन्य निर्माण कार्य चलते रहेगें। औद्योगिक ईकाईयां खुली रहेंगी उनके वाहनों, कार्मिकों एवं श्रमिकों को आवागमन में छूट रहेगी। जनपद में शासकीय कार्यालय केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के कार्यालय मंगलवार से शनिवार तक बंद रहेंगे, आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालयों को छूट प्रदान की गई, जिनमें कलेक्टेट, चिकित्सा, पुलिस, खाद्य, सिविल सप्लाई आदि विभाग के कार्यालय खुले रहेंगे।

आवश्यक सेवाओं के वाहनों को आवागमन में छूट रहेगी। पोस्ट आफिस, बैंक, कुरियर सर्विस चलती रहेंगी। जनपद के नगर निगम देहरादून एवं ऋषिकेश सहित कन्टोंमेंट बोर्ड क्लेमेंन्टाउन एवं गढीकैन्ट में यह आदेश लागू रहेगा तथा जनपद के अन्य क्षेत्रों में पूर्ववर्ती आदेश 2 बजे तक दुकानें खुलने एवं 07 बजे से आवागमन प्रतिबन्धित होने का आदेश लागू रहेगा।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में पर्याप्त मात्रा में आक्सीजन उपलब्ध है, इसके लिए सम्बन्धित डीलरों के नम्बर जारी कर दिए गए है। इण्डस्ट्री में प्रयुक्त आक्सीजन सिलेण्डर सभी स्वास्थ्य सेवाओं में डायवर्ट किए जा रहे हैं, यदि किसी रोगी को आक्सीजन की जरूरत पड़ती है तथा वह घर पर ही आक्सीजन की व्यवस्था करना चाहता है उनके लिए कोविड पाॅजिटिव रिपोर्ट, चिकित्सक का परामर्श का पर्चा आईडी पू्रफ घर का पूर्ण पता के साथ सलंग्न करना होगा। आक्सीजन रेंमडेसिवर चिकित्सक के परामर्श पर ही दिया जाएगा। दवाईयों और आवश्यक सामग्री निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर बेचने पर कार्यवाही की जाएगी।

आज जनपद में ओवर रेटिंग एवं जमाखोरी के सम्बन्ध में पूर्ति विभाग तथा बाट-माप विभाग द्वारा 40 राशन की दुकानों तथा स्टोरों में छापेमारी की गई, जिसमें ओवर रेटिंग पाए जाने पर 9 दुकानों का चालान किया गया। उप जिलाधिकारी सदर द्वारा चूना भट्टा स्थित कुमार गैस एजेंसी में छापेमारी कर 33 आक्सीजन सिलेण्डर रिकवर किए गए। इसके अलावा ऋषिकेश में उप जिलाधिकारी द्वारा बड़ी मण्डी स्थित राशन की दुकान का आकस्मिक निरीक्षण किया।

कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु प्रभावी कोरोना कर्फ्यू में आवश्यक सेवाओं को संचालित किये जाने हेतु (कन्टेनमेंट जोन को छोड़कर) पास निर्गत करने की व्यवस्था की गई है। विवाह समारोह हेतु सम्बन्धित उप जिलाधिकारी, नगर मजिस्टेट, केन्द्र व राज्य सरकार के अधीनस्थ कार्यालय हेतु अपर जिलाधिकारी (वि/रा), समस्त बैंकिंग सेवाएं, वित्तीय संस्थान एवं बीमा कम्पनी हेतु सम्बन्धित शाखा प्रबन्धक, पौधा रोपण वृक्षारोपण एवं वनाग्नि रोकथाम तथा वन्यजीव सुरक्षा हेतु सम्बन्धित प्रभागीय वनाधिकारी, कृषि कार्य हेतु (किसानों और खेत श्रमिक द्वारा खेती संचालन के लिए) मुख्य कृषि अधिकारी, बागवानी गतिविधियों के संचालन हेतु मुख्य उद्यान अधिकारी, पशुपालन एवं सम्बद्ध कार्य हेतु मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, आकस्मिकता की स्थिति में एक स्थान से दूसरे स्थान आवागमन करने वाले व्यक्तियों के लिए सम्बन्धित उप जिलाधिकारी/नगर मजिस्टेट/थानाध्यक्ष, दैनिक विद्युत, नलकूप, जल आपूर्ति व संचार सुविधा के लिए सम्बन्धित अधिशासी अभियन्ता पास निर्गत करने हेतु अधिकृत किए गए हैं। मीडिया कर्मियों के लिए उनका संस्थान का आईडी कार्ड ही पास के रूप में मान्य होगा।

जिलाधिकारी ने जनमानस से अनुरोध किया है कोविड कर्फ्यू का पालन करें, अनावश्यक घरों से बाहर ना निकलें। आवश्यक सामग्री एवं राशन आदि के लिए अपने नजदीकी दुकानों/बाजारों से क्रय की जाए। एक स्थान से दूसरे स्थान पर अनावश्यक आवागमन ना किया जाए। उन्होंने सार्वजनिक स्थानों और बाजारों में मास्क का उपयोग एवं मानकों का पालन करने का अनुरोध किया। बताया कि सोमवार को आज जनपद में मास्क का उपयोग ना करने एवं सामाजिक दूरी के मानकों का उल्लंघन करने पर 770 व्यक्तियों के चालान किए गए।

Death corona Uttarakhand: उत्तराखण्ड में आज 127 कोरोना रोगियों की मौत

0
Death corona Uttarakhand: कोरोना संक्रमित एक रोगी की मौत

उत्तराखण्ड में आज 127 कोरोना रोगियों की मौत हो गई।

Uttarakhand Update: प्रदेश में कोरोना के आज 7783 मामले, अब तक 211834

कोरोना रोगियों की मौत का विवरण

जनपद संख्या

अल्मोड़ा 40
बागेश्वर 20
चमोली 32
चंपावत 15
देहरादून 1774
हरिद्वार 285
नैनीताल 492
पौड़ी 127
पिथौरागढ़ 64
रूद्रप्रयाग 34
टिहरी 29
यूएस नगर 205
उत्तरकाशी 25

Uttarakhand COVID-19 Update: उत्तराखण्ड में कोरोना के आज 7783 मामले, संख्या पहुंची 211834

0
Uttarakhand District Wise COVID19 Update

उत्तराखण्ड में एक बार बीते माह सितंबर से जहां कोरोना का प्रकोप कम हो गया था, वहीं अभी कुछ दिन से प्रदेश में कोरोना संक्रमित रोगियों का आंकड़ा दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। कोरोना महामारी की दोबारा शुरू हुई लहर फिर सूबे के लोगों के लिए चिंता का सबब बन गई है।

Uttarakhand: कोरोना जांच कर रही फर्जी लैब का पर्दाफाश

बुधवार को आज प्रदेश में कोरोना के 7783 नये मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही अब प्रदेश में कोरोना रोगियों की संख्या बढ़कर 211834 तक पहुंच गई है। अभी तक प्रदेश में कोरोना के 144941 रोगी स्वस्थ्य हो चुके हैं।

उत्तराखंड सरकार लॉकडाउन को लेकर आज ले सकती है फैसला

बुधवार को आज प्रदेश में आए कोरोना के नये मामलों में अल्मोड़ा में 271, बागेश्वर में 240, चमोली में 283, चम्पावत में 245, देहरादून में 2771, हरिद्वार में 599, नैनीताल में 956, पौड़ी में 263, पिथौरागढ़ में 225, रुद्रप्रयाग में 143, टिहरी में 504, ऊधमसिंह नगर में 1043 एवं उत्तरकाशी में 240 मामले शामिल है।

Death corona Uttarakhand: उत्तराखण्ड में आज 127 कोरोना रोगियों की मौत

आज बुधवार को प्रदेश में विभिन्न अस्पतालों से 4757 कोरोना के रोगी डिस्चार्ज किये गए।

उत्तराखण्ड में जिला वार रोगियों का विवरण

 जनपद

संक्रमित रोगी

स्वस्थ्य रोगी

मौत

अल्मोड़ा

6074

3866

40

बागेश्वर

2933

1796

20

चमोली

6001

4102

32

चंपावत

4294

2206

15

देहरादून

74488

51384

1774

हरिद्धार

35590

24172

285

नैनीताल

26019

18416

492

पौड़ी

10434

6103

127

पिथौरागढ़

5042

3626

64

रूद्रप्रयाग

3872

2712

34

टिहरी

8346

4947

29

ऊधमसिंह नगर

22698

17129

205

उत्तरकाशी

6043

4482

25

योग

211834

144941

3142

 

Uttarakhand: फर्जी कोरोना जांच कर रही लैब का पर्दाफाश

0
Uttarakhand: कोरोना जांच कर रही फर्जी लैब का पर्दाफाश

कोरोना काल में देश दुनियां में जहां लोग एक दूसरे की मदद कर रहे हैं वहीं, उत्तराखंड में कोई कोरोना हेतु नकली रेमेडिसिविर के इंजेक्शन तैयार कर रहा तो कोई कालाबाजारी।

पौड़ी जिले के कोटद्वार में फर्जी रूप से कोरोना जांच कर रही एक लैब का पर्दाफाश किया गया है। आज बुधवार को सीआईयू यूनिट के प्रभारी इंस्पेक्टर विजय सिंह ने यह जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि आज कोटद्वार में एक प्राइवेट पैथोलॉजी लैब में छापा मारा। जहां बिना सरकार की अनुमति के रैपिड एंटीजन और आरटीपीसीआर टेस्ट किए जा रहे थे। लैब संचालक लोगों से फर्जी टेस्ट के लिए मनमाने दाम वसूल रहा था।

सीओ कोटद्वार और सीआईयू की टीम ने उक्त लैब में छापा मारा। टीम ने लैब से 22 एंटीजन किट और बिल बुक जब्त की है। लैब संचालक डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है।

साप्ताहिक व्रत, त्यौहार एवं साप्ताहिक राशिफल

0
साप्ताहिक व्रत, त्यौहार एवं साप्ताहिक राशिफल

साप्ताहिक व्रत एवं त्यौहार (दिनांक 3 मई से 9 मई 2021)

3 से 9 मई तक का पंचांग
तारीख और वार – तिथियां – व्रत-त्योहार
3 मई, सोमवार – वैशाख कृष्णपक्ष, सप्तमी
4 मई, मंगलवार – वैशाख कृष्णपक्ष, अष्टमी
5 मई, बुधवार – वैशाख कृष्णपक्ष, नवमी
6 मई, गुरुवार – वैशाख कृष्णपक्ष, दशमी
7 मई, शुक्रवार – वैशाख कृष्णपक्ष, एकादशी, वरुथिनी एकादशी
8 मई, शनिवार – वैशाख कृष्णपक्ष, द्वादशी एवं त्रयोदशी प्रदोष व्रत
9 मई, रविवार – वैशाख कृष्णपक्ष, त्रयोदशी एवं शिव चतुर्दशी

ज्योतिषिय नजरिये से ये सप्ताह

3 मई, सोमवार – सर्वार्थसिद्धि योग

4 मई, मंगलवार – शुक्र का राशि परिवर्तन, वृष राशि में

साप्ताहिक राशिफल
(दिनांक 3 मई  से 9 मई 2021)

मेष – यदि कोई पारिवारिक मतभेद चल रहा है तो वह आपसी विचार-विमर्श से हल हो सकता है। सिर्फ धैर्य एवं एक दूसरे पर विश्वास बनाकर रखने की आवश्यकता है। कोई महत्वपूर्ण समाचार भी प्राप्त होगा। तथा भावनात्मक रूप से आप अपने आपको सशक्त और ऊर्जावान महसूस करेंगे। गुस्से की वजह से अपना आपा ना खोए। इसकी वजह से किसी पड़ोसी या निकट संबंधी के साथ क्लेश जैसी स्थिति उत्पन्न होने की आशंका है। कुछ समय धार्मिक स्थल या किसी एकांत वातावरण में व्यतीत करें इससे आपको मानसिक सुकून और शांति प्राप्त होगी। अगर कार्यक्षेत्र में कुछ नया करने या बदलाव लाने की सोच रहे हैं, तो यह आपके लिए उचित रहेगा। किसी वास्तु विशेषज्ञ की सलाह भी लें। इस समय किसी भी प्रकार का रिस्क लेने से बचें। पारिवारिक सदस्यों के साथ अपनी गतिविधियों को अवश्य शेयर करें। इससे आपको निर्णय लेने में आसानी होगी। तथा भावनात्मक रूप से आपसी संबंध भी मजबूत होंगे। अपना इम्यून सिस्टम मजबूत बनाएं। कुछ समय प्रकृति के सानिध्य में भी व्यतीत करें।

वृष – फोन द्वारा कोई महत्वपूर्ण शुभ सूचना प्राप्त होगी। राजनीतिक अथवा सामाजिक कार्यक्रम में जाने का अवसर मिल सकता है, जो कि आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। किसी पुराने मित्र से अचानक ही मुलाकात पुरानी यादें ताजा करेंगी। शेयर्स, सट्टा आदि जैसे रिस्क प्रवृत्ति के कार्यों से दूर रहें। क्योंकि इस समय कुछ नुकसान होने की स्थितियां बन रही है। वाहन चलाते समय अत्यधिक सावधानी बरतें। इस समय किसी भी गैर कानूनी काम में रुचि ना लें।
किसी भी व्यवसायिक काम में अपने पेपर और फाइलों को पूरी तरह व्यवस्थित रखें। कोई भी हस्ताक्षर करने से पहले उसे अच्छी तरह पढ़ ले। इस समय कोई कारोबारी संबंधी योजना लंबित हो सकती है। परंतु नौकरी में अपने ऑफिस में सुकून भरा माहौल होगा। जीवनसाथी का सहयोगात्मक व्यवहार आपकी कई समस्याओं को हल करेगा। प्रेम संबंधों और अधिक प्रगाढ़ होंगे। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। परंतु वर्तमान नकारात्मक वातावरण की वजह से लापरवाही बिल्कुल ना बरतें। नियमों का पालन अवश्य करें।

मिथुन – किसी धार्मिक कार्य के प्रति आपकी रूचि रहेगी। संतान की किसी एक्टिविटी से स्वयं को गर्वित महसूस करेंगे। खर्चों की अधिकता रहेगी, परंतु ये खर्चे कुछ बेहतरीन और भविष्य संबंधी शुभ योजनाओं के लिए होंगे, इसलिए घबराएं नहीं। कभी-कभी आपका शंकालु स्वभाव बनते कार्यों में रुकावट डाल सकता है, अपनी इस आदत पर कंट्रोल करने का प्रयास करें। अपनी इच्छापूर्ति के लिए किसी भी प्रकार के रिस्क लेने की प्रवृत्ति से भी दूर रहें।
सरकारी सेवारत व्यक्तियों को अपनी मनपसंद अथॉरिटी मिलने संबंधी शुभ सूचना प्राप्त होगी। जिसमें प्रमोशन की भी उम्मीद है। व्यवसाय में अतिरिक्त आय की भी शुभ स्थितियां बनेंगी। जीवन साथी के साथ किसी पारिवारिक समस्या को लेकर कुछ तकरार रह सकती है। परंतु आप अपनी सूझबूझ द्वारा उसका असर पारिवारिक सुख-शांति पर नहीं पड़ने देंगे।
घुटनों व जोड़ों में दर्द की समस्या बढ़ सकती है। बदलते मौसम से अपना बचाव करें तथा व्यायाम और योगा में भी कुछ समय अवश्य लगाएं।

कर्क – इस सप्ताह अचानक ही आपकी कोई कार्य सिद्धि हो सकती हैं। सिर्फ दूसरों से उम्मीद करने की अपेक्षा अपनी मेहनत और कार्य क्षमता पर ही विश्वास रखें। घर के वरिष्ठ सदस्यों के मान-सम्मान व सेवा में किसी प्रकार की कमीं ना आने दें। कभी-कभी ज्यादा प्राप्ति की इच्छा और काम के प्रति जल्दबाजी आपके लिए नुकसानदायक रह सकती है। व्यवस्थित तरीके से अपने कार्यों को निपटाने का प्रयास करें। और जो मिल रहा है उसी में संतोष रखना आपको तनाव मुक्त रखेगा।
व्यवसाय- इस सप्ताह कार्यक्षेत्र में वर्तमान गतिविधियों पर अधिक ध्यान दें। अभी भविष्य संबंधी किसी योजना को क्रियान्वित करने के लिए समय अनुकूल नहीं है। कंप्यूटर, मीडिया, मार्केटिंग आदि से जुड़े व्यवसाय में शुभ अवसर प्राप्त हो सकते हैं। पति-पत्नी के बीच रोमांटिक संबंध रहेंगे। प्रेम विवाह के इच्छुक लोगों को भी कोई शुभ समाचार मिल सकता है। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। चिंता ना करें। अपना इम्यून सिस्टम मजबूत बनाकर रखें।

सिंह – इस सप्ताह अपने आसपास की परिस्थितियों में कुछ बदलाव महसूस करेंगे। और इन बदलाव का आपके व्यक्तित्व पर सकारात्मक प्रभाव भी पड़ेगा। सिर्फ आपको अपनी ऊर्जा एकत्रित करके दोबारा से नई नीतियां बनाने की जरूरत है। किसी भी वरिष्ठ तथा सम्मानित व्यक्ति के साथ वाद-विवाद या मतभेद ना उत्पन्न होने दे। ध्यान रखें कि मेहनत करने पर ही भाग्य आपका सहयोग करेगा। किसी भी प्रकार की बहस या गपशप करने में ऊर्जा व्यर्थ ना करके अपने महत्वपूर्ण कार्यों की तरफ ध्यान केंद्रित रखें।
इस सप्ताह व्यवसाय में कुछ सकारात्मक तथा फायदेमंद गतिविधियां रहेगी। बीमा, इनकम टैक्स आदि जैसे क्षेत्रों में कोई बेहतरीन उपलब्धि मिलेगी। नौकरीपेशा लोगों के ऊपर कार्यभार की अधिकता रहेगी परंतु साथ ही कोई महत्वपूर्ण अथॉरिटी भी मिल सकती है। घर-परिवार में वाद-विवाद जैसी स्थिति न उत्पन्न होने दे। पति-पत्नी आपसी सहयोग द्वारा वातावरण को शांतिपूर्ण बनाकर रखें। स्वास्थ्य उत्तम बना रहेगा। फिर भी अपने खानपान व दिनचर्या को व्यवस्थित बनाकर रखना अति आवश्यक है।

कन्या – पिछले कुछ समय से चल रही अत्यधिक व्यस्तता के कारण शांति पाने के लिए किसी एकांत वातावरण में समय व्यतीत करें। इसे आप दोबारा अपने अंदर नई ऊर्जा का संचार महसूस करेंगे। अगर वाहन खरीदने की योजना बना रहे हैं तो समय अनुकूल है। कोई भी महत्वपूर्ण निर्णय लेते समय अच्छी तरह सोच-विचार अवश्य करें। खासतौर पर किसी कागज या दस्तावेज पर बिना पढ़े लिखे हस्ताक्षर ना करें। इस समय कोई भी यात्रा करना आपके लिए उचित नहीं रहेगा।
व्यवसाय में विस्तार संबंधी योजनाएं सफल रहेंगी। जिसमें गंभीरता और संजीदगी से अपने कार्यों को अंजाम दें। चिटफंड कंपनियों में निवेश करने के लिए समय प्रतिकूल है, इसलिए कोई भी निर्णय लेने में सावधानी बरतें। पति-पत्नी के बीच खट्टी-मीठी नोकझोंक उनके संबंधों में और अधिक नजदीकियां लाएगी। घर का वातावरण खुशनुमा व सुखद बना रहेगा। स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही ना बरतें। तथा अत्यधिक ठंड से अपना भरपूर बचाव करें।

तुला – इस समय लाभदायक ग्रह गोचर चल रहा है। इन्वेस्टमेंट करने के लिए समय उत्तम है परंतु इससे संबंधित कोई भी कार्य करने से पहले अनुभवी व्यक्ति की सलाह अवश्य लें। धार्मिक तथा आध्यात्मिक गतिविधियों में भी आपका विशेष योगदान रहेगा। तथा महत्वपूर्ण संपर्क स्थापित होने से आत्मविश्वास भी बढ़ेगा।
अपने स्वभाव को बहुत ही सौम्य और मधुर बनाकर रखें। गुस्से और अहम की वजह से कार्य बिगड़ भी सकते हैं। कुछ समय आत्म मनन में भी अवश्य लगाएं। ध्यान रखें कि माता-पिता के स्वाभिमान को किसी प्रकार की ठेस ना पहुंचे।
व्यवसाय में भरपूर ऑर्डर मिलेंगे। कर्मचारी तथा स्टाफ पूरे मनोयोग से कार्य को गति देंगे। परंतु किसी को भी माल उधार देते समय पेमेंट की वापसी अवश्य सुनिश्चित कर लें। सरकारी सेवारत व्यक्ति कोई भी गैरकानूनी काम में ना पड़ें।
घर में संबंधियों का आगमन होगा। तथा आपसी मेल-मिलाप पारिवारिक वातावरण को खुशनुमा व आनंदित बनाकर रखेगा। शरीर में त्वचा संबंधी कोई एलर्जी की दिक्कत आ सकती है। परंपरागत तरीके के इलाज को विशेष महत्व दें।

वृश्चिक – यह सप्ताह सोच-विचार तथा आत्म निरीक्षण करने का है। अचानक ही कोई असंभव कार्य संभव हो सकता है। आप अपनी कुशलता व समझदारी द्वारा सुखद परिणाम प्राप्त करने में सक्षम रहेंगे। फोन द्वारा कोई महत्वपूर्ण जानकारी भी मिल सकती है। ध्यान रखें कि अहम और अति आत्मविश्वास आप पर हावी ना रहे। घर में भाइयों के साथ किसी प्रकार का वाद-विवाद संभव है। परंतु आप अपनी व्यवहार कुशलता द्वारा उसे निपटाने में सक्षम अवश्य रहेंगे।
पार्टनरशिप संबंधी व्यवसाय में अभी गतिविधियां कुछ धीमी ही रहेंगी। परंतु चिंता ना करें, समय अनुसार सब ठीक हो जाएगा। किसी भी पार्टी के साथ डील करते समय भावुक होकर कोई भी निर्णय ना लें। ऑफिस का माहौल शांतिपूर्ण बना रहेगा। पति-पत्नी के बीच आपसी सामंजस्य बना रहेगा। तथा परिवार के साथ कोई मनोरंजन या गेट-टुगेदर संबंधी योजना बन सकती है। अत्यधिक ठंड का प्रभाव स्वास्थ्य पर पड़ सकता है। सावधान रहें तथा अपना बचाव अवश्य करें।

धनु – जीवन के प्रति सकारात्मक रवैया आपके विश्वास और आत्मबल को और अधिक बढ़ाएगा। लाभ के नए स्रोत बनेंगे। अचानक ही कुछ ऐसे लोगों से मुलाकात होगी, जो आपकी उन्नति में सहायक रहेगी। मन मुताबिक बात हो जाने से बहुत अधिक प्रसन्नता भी बनी रहेगी। अपने ऊपर काम का अधिक बोझ ले लेना आपके लिए ही परेशानी का कारण बन सकता है तथा दिनचर्या भी अस्त-व्यस्त हो जाएगी। बेहतर है कि सप्ताह की शुरुआत में अपने महत्वपूर्ण कार्यों को पहले पूरा करें। किसी रिश्तेदार के साथ किसी तरह की वाद-विवाद की स्थिति बन सकती है।
इस सप्ताह ग्रह स्थिति पूरी तरह आपके पक्ष में है। उन्नति के नए-नए अवसर प्राप्त होने वाले हैं। परंतु स्टाफ की गतिविधियों को नजरअंदाज ना करें, क्योंकि जरा सी गलती से बड़ा नुकसान हो सकता है। कोई पार्टनरशिप संबंधी डील आपके लिए फायदेमंद रहेगी। पारिवारिक वातावरण सुखद बना रहेगा। घर परिवार में आपका मान-सम्मान तथा आपके प्रति विश्वास बढ़ेगा। स्वास्थ्य ठीक रहेगा। परंतु बहुत अधिक दिमागी कार्य करने की वजह से सिर में दर्द या भारीपन जैसी समस्या रह सकती है।

मकर – यह समय आत्ममंथन तथा आत्म विश्लेषण का है। दूसरों के प्रभाव में ना आएं। अपने उसूलों और सिद्धांतों के अनुसार कार्य करें। आपको वैसे ही सफलता मिलेगी। विद्यार्थियों के लिए नौकरी अथवा इंटरव्यू आदि में सफलता के योग बन रहे हैं। आपकी किसी महत्वपूर्ण वस्तु के खोने या चोरी होने जैसी आशंका बन रही है। अपनी चीजों की संभाल स्वयं करें। बनते कार्यों में कुछ व्यवधान आ सकते हैं। परंतु तनाव लेने की अपेक्षा समस्याओं का हल निकालने का प्रयास करें।
इस सप्ताह व्यवसाय संबंधी बाहरी गतिविधियों पर अधिक ध्यान दें। आय का कोई नया स्रोत बनेगा। किसी कर्मचारी की गलती की वजह से कोई काम खराब हो सकता है। बेहतर होगा कि सभी गतिविधियां अपनी निगरानी में ही करवाएं।
इस समय वैवाहिक जीवन तथा प्रेम संबंध दोनों में ही किसी प्रकार की गलतफहमी उत्पन्न हो सकती हैं। विवेक से काम लें तथा लोगों की बातों में ना आएं। किसी-किसी समय अकारण ही गुस्सा और तनाव हावी रहेंगे। मेडिटेशन करें। तथा कुछ समय स्वयं के साथ अकेले में भी व्यतीत करें।

कुम्भ – समान विचारधारा वाले लोगों से संपर्क बनेंगे। आपके किसी खास हुनर तथा नॉलेज की तारीफ होगी। युवाओं की कोई उत्तम प्रतिभा उभरकर लोगों के सामने आएगी। राजकीय कार्यों को पूरा करने के लिए समय उत्तम है।
सावधान रहें, कि पैसा आने से पहले जाने का रास्ता भी तैयार रहेगा। इसलिए फिजूलखर्ची पर नियंत्रण रखें। इस समय किसी भी अनचाही यात्रा से परहेज करें, इससे सिर्फ थकान और समय की बर्बादी के अलावा कुछ हासिल नहीं होगा।
साझेदारी संबंधी व्यवसाय में कुछ गलतफहमी तथा वैचारिक मतभेद के कारण काम में अवरोध की स्थिति रहेगी। नौकरी में कार्यभार बढ़ने से मन मस्तिष्क में तनाव रहेगा। बेहतर होगा कि अपने कार्यभार को दूसरों के साथ बांटने का प्रयास करें। घर में सुख-शांति भरा वातावरण रहेगा। प्रेम प्रसंगों के अवसर बनेंगे। परंतु उनका असर अपने व्यवसाय पर ना प़ड़ने दें। पिछले कुछ समय से चल रही स्वास्थ्य संबंधी परेशानी से राहत मिलेगी। और स्वयं को ऊर्जावान महसूस करेंगे।

मीन – इस सप्ताह राजनैतिक और सामाजिक गतिविधियों के प्रति आपका रुझान बढ़ेगा। किसी प्रभावशाली व्यक्ति का सहयोग भी आपके मनोबल को और बढ़ाएगा। कोई काम अचानक ही बन सकता है। जिससे आप विजय हासिल करने जैसी खुशी महसूस करेंगे। अपने अधिकतर महत्वपूर्ण काम सप्ताह के पूर्वार्ध में ही निपटाने की कोशिश करें। क्योंकि दोपहर बाद आपकी कोई योजना विफल भी होने की आशंका है। किसी की सलाह का अनुसरण करने से पहले उसके बारे में अच्छी तरह सोच-विचार अवश्य कर लें।
इस सप्ताह ग्रह स्थितियां आपके पक्ष में है। आपको बेहतरीन अनुबंध प्राप्त होने वाले हैं। लेकिन अपने काम की क्वालिटी को और अधिक बेहतर करने की जरूरत है। अधीनस्थ कर्मचारियों के बीच आपका वर्चस्व बना रहेगा। जीवनसाथी तथा परिवार के लोगों का पूर्ण सहयोग रहेगा। व्यर्थ के प्रेम संबंधों में अपना समय बर्बाद ना करें। जोड़ों अथवा घुटनों में दर्द की समस्या बढ़ सकती है। बादी प्रकृति के खानपान से परहेज करें। और व्यायाम के लिए अवश्य समय निकालें।

Uttarakhand Weather: तीन जिलों में आज भारी वर्षा, कई जिलों में ओलावृष्टि एवं आकाशीय बिजली गिरने की संभावना

0
Uttarakhand Weather: पांच पर्वतीय जिलों में आज ओले गिरने की संभावना, ऑरेंज अलर्ट जारी

उत्तराखंड में आज बुद्धवार को उत्तरकाशी, चमोली और पिथौरागढ़ जनपदों में कहीं-कहीं भारी वर्षा होने की संभावना है। मौसम विभाग द्वारा आज बुद्धवार से आगामी 8 मई तक प्रदेश के विभिन्न जिलों में वर्षा, ओलावृष्टि एवं आकाशीय बिजली चमकने की संभावना जताई गई है।

मौसम विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार राज्य के देहरादून, हरिद्वार, टिहरी, पौड़ी, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, बागेश्वर, पिथौरागढ़ और ऊधमसिंह नगर जनपदों में कहीं-कहीं गर्जन के साथ ओलावृष्टि एवं आकाशीय बिजली चमकने की संभावना है।

उत्तराखंड के उत्तरकाशी, चमोली और रुद्रप्रयाग जिलों में कहीं-कहीं गर्जन के साथ आकाशीय बिजली गिरने की संभावना है। राज्य के मैदानी क्षेत्रों में कहीं-कहीं झोके दार हवा (30-40किमी/घंटा) चलने की संभावना है।

सुमना में रेस्क्यू ऑपरेशन: लापता मजदूर का शव बरामद, आपदा में मृतकों की संख्या हुई 18

0
भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की खबर

उत्तराखंड के चमोली में सुमना में आए हिमस्खलन में लापता एक और मजदूर का शव बरामद किया गया है। अब इस आपदा में मृतकों की कुल संख्या 18 हो गई है। ज्ञात हो कि सेना औैर आईटीबीपी की ओर से प्रतिदिन चार घंटे तक आपदा प्रभावित क्षेत्र में रेस्क्यू कर लापता मजदूर की खोजबीन की जा रही थी। सीमा सड़क संगठन की ओर से मलारी राजमार्ग को रिमखिम तक खोल दिया गया है। जिससे सेना के वाहनों की सीमा क्षेत्र में आवाजाही सुचारु कर दी गई है।

विदित हो कि बीती 23 अप्रैल को सुमना-2 इलाके में बर्फबारी के दौरान हिमस्खन हो गया था, जिससे बीआरओ के मजदूरों का कैंप बर्फ में दफन हो गया था। हादसे में 17 मजदूरों की मौत हो गई थी, जबकि एक मजदूर लापता चल रहा था। जिसका शव बीती मंगलवार को आपदा वाली जगह से बरामद कर लिया गया है।

बरामद किए शवों को जिला प्रशासन और बीआरओ की ओर से झारखंड सरकार को सौंप दिया गया है। हादसे में सेना की ओर से 348 मजदूरों को सुरक्षित बचा लिया गया था। इन मजदूरों को अब क्षेत्र में फिर से सड़क निर्माण कार्य में लगा दिया गया है।

——————————————-

भारत-तिब्बत (चीन) सीमा से लगे सुमना-2 में सीमा सड़क संगठन के मजदूरों के शिविर (टिन शेड) के ऊपर हिमस्खलन होने से हुए सुमना हादसे में मृतकों की संख्या बढ़कर 17 हो गई है। यहाँ पर सेना द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। इस घटना में अभी भी एक मजदूर लापता है।

उधर, मलारी राजमार्ग को सुमना तक खोल दिया गया है। बीआरओ और जिला प्रशासन चमोली द्वारा बरामद किए शवों को झारखंड सरकार के सुपुर्द किया गया है। घटना में बरामद सभी शवों की शिनाख्त की जा चुकी है।

जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि आपदा में मृतक बीआरओ के यह सभी मजदूर झारखंड के रहने वाले थे। इस हादसे में बचाए गए 384 मजदूरों को अभी भी सेना कैंप में रखा गया है, जहां पर उनके लिए खाने-पीने की व्यवस्था की गई है। बताया कि मलारी से सुमना तक सड़क मार्ग खुलने के बाद वाहनों से मजदूरों को जोशीमठ लाया जाएगा।

——————————

घटना के सभी मृतकों के शव सेना विमान से जोशीमठ पहुंचाने के बाद पोस्टमार्टम की कार्यवाही की जा रही है। इस घटना में लापता 6 लोगों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है। बताया जा रहा है कि मौसम के कारण प्रभावित क्षेत्र में सेना के हेलीकॉप्टर को लेंडिंग में दिक्कतें आ रही हैं। मलारी-सुमना सड़क मार्ग को खोलने का कार्य बीआरओ के द्वारा किया जा रहा है।

विदित हो कि शुक्रवार को रिहाइशी टिन शेड के ऊपर दो बार हुए इस भारी हिमस्खलन में 7 मजदूर घायल हो गए, 384 मजदूर सुरक्षित बच गए। घायलों को जोशीमठ सैन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सीमांत विकासखण्ड जोशीमठ से करीब 95 किलोमीटर की दूरी पर नीति घाटी में बीआरओ सड़क निर्माण और डामरीकरण का कार्य तेजी से करा रहा है, जिसके लिए वहां 409 मजदूर टिनशेड में रह रहे थे।

नीति घाटी में पिछले तीन दिनों से लगातार बर्फबारी हो रही थी, जिससे घाटी में कई फीट बर्फ जमी है। शुक्रवार शाम को बर्फबारी के बीच अचानक मजदूरों के टिनशेड के ऊपर हिमस्खलन हो गया। जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदोरिया एवं पुलिस कप्तान यशवंत सिंह चौहान जोशीमठ में मौजूद रहकर आपदा प्रभावित क्षेत्र में राहत बचाव के कार्यों की निगरानी कर रहे हैं।

—————————————————

भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की घटना में अब तक 384 लोगों को बचाया गया है। 10 मजदूरों की मौत हो गई और 7 लोग घायल हैं। अभी भी 8 मजदूर लापता बताए जा रहे हैं। घायलों को इलाज के लिए जोशीमठ में सेना अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जबकि 384 मजदूर सुरक्षित हैं। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी के जवान और जिला प्रशासन की टीम भी युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य में जुटी हुई हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज शनिवार की सुबह आपदा प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने पहुंचे। मुख्यमंत्री ने आपदाग्रस्त क्षेत्र का हवाई निरीक्षण करने के बाद बताया गया कि आपदाग्रस्त क्षेत्र में जगह-जगह भारी मात्रा में बर्फ है। बीआरओ सड़क खोलने में जुटा है। मुख्यमंत्री श्री रावत ने सेना के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बताया कि नीति घाटी में मलारी बॉर्डर स्थित सुमना गाँव के निकट ग्लेशियर टूटने पर घटनास्थल के हवाई निरीक्षण के बाद भी वहां चल रहे रेस्क्यू कार्य की मैं लगातार मॉनिटरिंग कर रहा हूं। मुझे बताया गया कि सुमना में जहां ग्लेशियर टूटा, वहां बीआरओ के लगभग 400 लेबर काम कर रहे थे, जिनमें से कुल 391 लोग सेना व आईटीबीपी के कैम्पों तक पहुँच गए हैं और पूरी तरह से सुरक्षित हैं। 6 मजदूरों के मारे जाने की जानकारी मिली है जबकि 4 लोग घायल हैं।

मौके पर सेना और आईटीबीपी की टीमें तत्परता से राहत बचाव कार्य में जुटी हैं। एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की कुछ टीमें भी आगे बढ़ रही हैं। जिला प्रशासन भी शुक्रवार से ही पूरी मुस्तैदी से राहत-बचाव में जुटा है। गाजियाबाद में भी एनडीआरएफ की टीमें अलर्ट मोड पर हैं।

सीएम तीरथ सिंह रावत ने कहा कि नीति घाटी के सुमना में ग्लेशियर टूटने की घटना का गृह मंत्री अमित शाह ने भी संज्ञान लिया है और मदद का आश्वासन दिया है तथा साथ ही आईटीबीपी को सतर्क रहने का आदेश दिया है।

सेना के अधिकारियों से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कहा कि नीति के पास आई इस आपदा में शुक्रवार रात से ही सेना राहत बचाव कार्य में लगी है। एसडीआरएफ, एनडीआरएफ, आईटीबीपी के जवान और जिला प्रशासन की टीम भी युद्ध स्तर पर जुटी हुई है।

सेना से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक 391 लोगों वहां बचाया गया है। छह लोगों के शव बरामद किए गए हैं और चार लोग घायल हैं। बताया जा रहा है कि अभी तक वहां पर काम में जुटे वास्तविक मजदूरों की संख्या का पता नहीं चल पाया है। इस घटना में हताहत होने वालों की संख्या बढ़ सकती है। मामले में सेना एवं बीआरओ के अधिकारी जुटे हुए हैं।

———————————

उत्तराखंड के चमोली जनपद से लगे भारत-चीन (तिब्बत) सीमा क्षेत्र सुमना के पास ग्लेशियर टूटने की खबर मिली है। बताया जा रहा है कि सुमना में सीमा सड़क संगठन के शिविर के पास ग्लेशियर टूटकर मलारी-सुमना रोड़ पर आ गया है।

यहां बीते तीन दिनों से नीती घाटी में अत्यधिक वर्षा एवं बर्फबारी हो रही है। बताया जा रहा है कि मलारी से आगे जोशीमठ-मलारी राजमार्ग भी बर्फ से पूरी तरह से ढक गया है, जिससे सेना और आईटीबीपी के वाहनों की आवाजाही भी बाधित हो गई है।

बताया जा रहा है कि नीती घाटी क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से भारी वर्षा एवं बर्फबारी हो रही है। यहां बीआरओ के मजदूर सड़क निर्माण के कार्य में लगे हुए थे। बर्फबारी होने से सीमा क्षेत्र में वायरलेस टेस भी काम नहीं कर रहे हैं। अभी यह पता नहीं चल पाया है कि मजदूरों को इससे कोई नुकसान पहुंचा है या नहीं। इस बारे में बीआरओ के अधिकारी जानकारी जुटाने के प्रयास में लगे हुए हैं।

इधर, चमोली पुलिस प्रशासन ने ऐसी घटना से इंकार किया है। बताया गया है कि प्रशासन के पास अभी ऐसी कोई जानकारी नहीं मिली है।

उत्तराखंड सरकार लॉकडाउन को लेकर आज ले सकती है फैसला

0

उत्तराखंड में कोरोना महामारी के लगातार विकट होते हालतों को देखते हुए प्रदेश सरकार आज लॉकडाउन को लेकर बड़ा फैसला ले सकती है। बुधवार को आज मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत के साथ मंत्रियों की बैठक रखी गई है, जिसमें राज्य में कोरोना को लेकर प्रमुख रूप से चर्चा की जाएगी।

उत्तराखंड सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंत्री सुबोध उनियाल ने बताया कि आज मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट सहयोगियों की बैठक रखी गई है जिसमें कोरोना महामारी को लेकर विचार विमर्श किया जाएगा। बताया कि प्रदेश हित मे जो भी होगा, किया जाएगा।

विदित हो कि बीते रोज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुअल बैठक में यह कहा गया था कि राज्य के जिन इलाकों में कोरोना संक्रमण 10 फीसदी से ज्यादा है वहां पर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। साथ ही राज्य सरकार स्थिति को देखते हुए निर्णय ले सकते हैं।

इधर, उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच राज्य के कई मंत्री सख्त लॉकडाउन लगाए जाने के पक्ष में नजर आ रहे हैं, वहीं राज्य की आम जनता व कर्मचारी संगठनों ने भी लॉकडाउन की मांग उठानी शुरू कर दी है। अब देखना यह है कि आज की बैठक में मुख्यमंत्री क्या फैसला लेते हैं।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने किया राज्य वित्त आयोग की प्रथम त्रैमासिक किस्त 90.24 करोड़ का डिजिटल हस्तांतरण

0

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने आज कैंप कार्यालय में पीएफएमएस के माध्यम से त्रिस्तरीय पंचायतों को राज्य वित्त आयोग के अंतर्गत वर्ष 2021-22 की प्रथम त्रैमासिक किस्त (अप्रैल-मई-जून) का डिजिटल हस्तांतरण किया। इसके तहत प्रदेश की ग्राम पंचायतों हेतु 27 करोड़ 20 लाख, प्रदेश की क्षेत्र पंचायतों हेतु 20 करोड़ 40 लाख जबकि जिला पंचायतों हेतु 42 करोड़ 64 लाख 84 हजार रुपए की धनराशि हस्तांतरित की गई।

बताया कि राज्य वित्त आयोग के अंतर्गत वर्ष 2021-22 की प्रथम त्रैमासिक किस्त कुल 90 करोड़ 24 लाख 84 हजार रुपए है। ग्राम पंचायतों को हस्तांतरित की जा रही धनराशि के सापेक्ष 20 प्रतिशत धनराशि कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव हेतु प्रचार-प्रसार, सेनेटाईजेशन व महामारी से सम्बन्धित अन्य कार्यों पर व्यय की जा सकेगी। वर्तमान कोरोनाकाल की परिस्थितियों में सभी सम्मानित पंचायत प्रतिनिधियों के साथ-साथ ग्रामवासियों द्वारा सराहनीय प्रयासों से हम कोरोना संक्रमण को रोकने में अवश्य सफलता प्राप्त करेंगे।

सीएम तीरथ एवं बाबा रामदेव ने किया हरिद्वार में कोविड अस्पताल का शुभारंभ

0

उत्तराखंड सरकार एवं पतंजलि योगपीठ के संयुक्त प्रयासों से हरिद्वार में संचालित हो रहे 140 बेड की क्षमता के कोविड अस्पताल का आज मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत एवं बाबा रामदेव ने विधिवत शुभारंभ किया। इस अस्पताल में 140 ऑक्सीजन बेड, 10 इमरजेंसी बेड और 4 वेंटिलेटर की व्यवस्था है। साथ ही सीएम ने हरिद्वार कोविड पोर्टल और प्री-पेड एंबुलेंस सर्विस का भी हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया।

इस मौके पर बताया गया कि पतंजलि योगपीठ के सहयोग से संचालित होने वाले अस्पताल में स्टाफ, सफाई, ठहरने, भोजन, दवाओं इत्यादि की व्यवस्था भी पतंजलि योगपीठ द्वारा की जाएगी। इस कोविड अस्पताल का लाभ हरिद्वार के अलावा आसपास के जिलों के लोग भी ले सकेंगे।

मुख्यमंत्री श्री रावत ने बताया कि प्रदेश में वेंटिलेटर की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। आईडीपीएल ऋषिकेश में एवं सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी में 500- 500 बेड के 2 अस्थायी अस्पताल अगले कुछ दिनों में तैयार हो जाएंगे, जिसके लिए सरकार ने डीआरडीओ के लिए 40 करोड़ जारी कर दिए हैं।

साथ ही हल्द्वानी के सुशीला तिवारी मेडिकल कॉलेज में अगले कुछ दिनों में ऑक्सीजन टैंक भी स्थापित किया जाएगा। उन्होंने दोहराया कि प्रदेशवासियों के स्वास्थ्य की सुरक्षा के प्रति राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक, पतंजलि के बालकृष्ण आदि शामिल रहे।

error: Content is protected !!