देहरादून। कोरोना महामारी के दौरान उत्तराखण्ड में इस बीमारी से हो रही मौत को लेकर बड़ा खुलासा हुआ है। प्राइवेट अस्पतालों के साथ-साथ सरकारी अस्पताल भी कोरोना रोगियों की मौत को छुपाते रहे। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन की बात की जाए तो बीते शुक्रवार और आज शनिवार को जारी दोनों बुलेटिन में यह आंकड़ा चौकाने वाला सामना आया है।

विदित हो कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा बीते शुक्रवार को जारी बुलेटिन में प्रदेश में अब तक कोरोना से हुई मौत का आंकड़ा 829 था, वहीं आज शनिवार को यह आंकड़ा 924 तक पहुंच गया है, हालांकि विभाग ने प्रदेश में आज 6 रोगियों की मौत घोषित की है लेकिन यदि आंकड़ों की बात की जाए तो इसमें 89 मौतें अभी और भी शामिल हो भी सकती हैं और नही भी।

एक ही दिन में प्रदेश में 85 मौत को सही नहीं ठहराया जा सकता है और यदि विभाग का यह आंकड़ा सही है तो इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि निजी और सरकारी अस्पतालों ने पिछले कुछ समय में कोरोना से हुई वास्तविक मौत के मामलों को अब तक छुपाये रखा।

विभाग द्वारा जारी इन दो दिनों के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो इनमें सर्वाधिक मामले देहरादून जिले के शामिल हैं। बीते शुक्रवार को जहां देहरादून में अब तक मौत का कुल आंकड़ा 449 था, वहीं आज शनिवार को वह 530 तक पहुंच गया है। अब देखना यह होगा कि स्वास्थ्य विभाग एक ही दिन में मौत के इन मामलों में किस प्रकार से खुलासा कर पाता है। इस मामले में अब विभाग की जांच के बाद ही स्थिति स्पष्ट हो पाएगी।

16 एवं 17 अक्टूबर को विभाग द्वारा जारी मौत के जिलावार आंकड़े

जनपद        16 अक्टूबर       17 अक्टूबर
अल्मोड़ा           8                   8
बागेश्वर           5                   5
चमोली            0                   0
चंपावत            5                  5
देहरादून         449               530
हरिद्वार         108               116
नैनीताल         131               132
पौड़ी              22                 23
पिथौरागढ़        5                   5
रूद्रप्रयाग         2                   2
टिहरी             5                   5
यूएस नगर      80                 84
उत्तरकाशी       9                   9
कुल    829                924

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here