उत्तरकाशी। जिला प्रशासन ने यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग पर हो रहे भूस्खलन को देखते हुए फिलहाल यमुनोत्री धाम की यात्रा पर रोक लगा दी है। जानकीचट्टी-यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग के भिंडियालीगाड़ क्षेत्र में दोबारा भूस्खलन सक्रिय होने के चलते यात्रा आज बुद्धवार को दूसरे दिन भी बाधित रही। विदित हो कि मंगलवार सुबह भूस्खलन शुरू होने के कारण धाम की आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी गई थी।

ज्ञात हो कि बीते मंगलवार को जानकीचट्टी-यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग के बाधित होने से करीब 118 तीर्थयात्री धाम में ही फंस गए, जिन्हें पुलिस व एसडीआरएफ की टीम ने करीब तीन घंटे रेस्क्यू अभियान चलाकर धाम से सुरक्षित निकाला। इसके बाद प्रशासन ने यमुनोत्री धाम की यात्रा पर रोक लगा दी है।

Kedarnath: केदार बाबा के दर्शन करने आ रहे तीर्थ यात्रियों के लिए अच्छी खबर

ज्ञातव्य है कि बीते 11 सितंबर को जानकीचट्टी-यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग के भिंडियालीगाड़ क्षेत्र में अचानक भारी भूस्खलन शुरू हो गया था, जिसके कारण इस मार्ग का 150 मीटर हिस्सा बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया था। इसके बाद प्रशासन ने सुरक्षित आवागमन के लिए वैकल्पिक मार्ग बनाया था। बीते सोमवार को एक बार फिर से मार्ग पर भूस्खलन शुरू हो गया। तीर्थ यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अभी यमुनोत्री धाम की यात्रा पर रोक लगा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here