नरेंद्रनगर। भू-बैकुंठ धाम श्री बदरीनाथ भगवान के अभिषेक के लिए आज यहां नरेंद्रनगर राजमहल में टिहरी की सांसद व महारानी राज्य लक्ष्मी शाह की अगुवाई में नगर की सुहागिन महिलाओं द्वारा पीला वस्त्र धारण कर तिलों का तेल पिरोया गया।

आज प्रात: राजपुरोहित संपूर्णानंद जोशी, आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल व पंडित हेतराम थपलियाल ने संयुक्त रूप से विधि-विधान पूर्वक गणेश पूजन करते हुए भगवान बदरीविशाल की पूजा-अर्चना की गई। इस दौरान ढोल-दमाऊ की थाप पर राज महल गुंजायमान हो उठा। तिलों का तेल पिरोने की शुरुआत से पूर्व भगवान श्री बदरीनाथ भगवान का स्मरण करते हुए राजपुरोहित जोशी,आचार्य उनियाल व पंडित हेतराम ने महारानी राज्य लक्ष्मी शाह से विधि-विधान पूर्वक पूजा-अर्चना कर सभी रस्म सम्पन्न करवाई।

इस दौरान वैश्विक महामारी कोरोना के दृष्टिगत पूजा-अर्चना से लेकर तेल पिरोते वक्त शारीरिक दूरी का पालन किया गया। विदित हो कि सदियों पुरानी इस परंपरा को विधिपूर्वक निभाया जाता है। इसके तहत तेल पिरोते वक्त सुहागिन महिलाएं पीला वस्त्र धारण करती हैं और पीले ही वस्त्र से मुंह ढक कर तेल पिरोया जाता है। आज मुंह ढका यह पीला वस्त्र फेस मास्क का काम कर रहा था।

कोरोना महामारी के चलते बहुत ही सादगी के साथ राजमहल में तेल पिरोने की रस्म अदा की गई। ऐसे अवसर पर सदैव राजमहल के बाहर से लेकर अंदर तक फूलों से सुसज्जित किया जाता था। मगर आज राजमहल और महल के बाहर दीवारों पर कहीं भी फूलों की सजावट नहीं थी। लिहाजा तेल पिरोने की रस्म सादगीपूर्वक पूरी की गई।

तिलों का तेल पिरो कर श्री बदरीनाथ डिमरी धार्मिक पंचायत के पदाधिकारी यहां भोग लगाकर धाम के लिए रवाना हो गए। डिमरी धार्मिक पंचायत से श्री बदरीनाथ धार्मिक केंद्र पंचायत के महासचिव राजेंद्र डिमरी, टिंबर पंचायत के सचिव दिनेश डिमरी, वरिष्ठ सदस्य अधिवक्ता अनुज, केंद्रीय पंचायत के सदस्य टीका प्रसाद डिमरी गाडू घड़ा तेल क्लश लेकर रवाना हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here