6 C
New York
Monday, June 14, 2021
spot_img
Homeहमारा उत्तराखण्डदेहरादूनAIIMS Rishikesh: एम्स के कोविड वार्ड की क्षमता हुई 200 बेड, दो...

AIIMS Rishikesh: एम्स के कोविड वार्ड की क्षमता हुई 200 बेड, दो आईसीयू के साथ 30 वेंटिलेटर की सुविधा

ऋषिकेश। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में कोविड-19 संक्रमित रोगियों की लगातार बढ़ती संख्या के दृष्टिगत कोविड वार्ड में बिस्तरों की संख्या बढ़ा दी गई है। इसके साथ ही वार्ड में आईसीयू से जुड़ी सुविधाओं को भी बढ़ाया गया है।

कोविड वार्ड में भर्ती गंभीर रोगियों के उपचार के लिए अब एक की जगह दो आईसीयू की व्यवस्था की गई हैं, जिनमें 30 वेंटिलेटर उपलब्ध रहेंगे। एम्स अस्पताल प्रशासन के अनुसार कोविड वार्ड में वर्तमान में 30 कोविड पॉजिटिव रोगी भर्ती हैं, जिनका विशेषज्ञ चिकित्सकीय दल की निगरानी में उपचार चल रहा है। एम्स अस्पताल प्रशासन ने रोगियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए समुचित इलाज की तैयारियों को लेकर कोविड वार्ड में जरुरी सुविधाओं में वृद्धि की है।

यह भी जानें- एम्स ऋषिकेश में कोरोना रोगियों को पोर्टेबल बेडसाइड ब्रोकोस्कोपी की सुविधा शुरू

संस्थान के डीन हॉस्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि एम्स अस्पताल में संचालित कोविड वार्ड में पहले कोरोना संक्रमित रोगियों के लिए 100 बेड की व्यवस्था की गई थी। राज्य में संक्रमित रोगियों की लगातार बढ़ती संख्या के चलते वार्ड में बेडों की संख्या बढ़ाकर अब 200 कर दी गई है। जिससे अस्पताल में कोविड संक्रमित रोगियों को भर्ती करने में अब किसी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं है।

यह भी जानें-  NEET PG Counseling: रजिस्ट्रेशन शुरू, खाली सीटों पर प्रवेश का मौका

उन्होंने बताया कि इसके अलावा कोविड वार्ड में पहले गंभीर रोगियों के लिए एक आईसीयू की व्यवस्था थी, संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी के मद्देनजर वार्ड में अब एक और गहन चिकित्सा यूनिट स्थापित की गई है। प्रो. मिश्रा के अनुसार नए आईसीयू में 15 अतिरिक्त वेंटिलेटर्स की व्यवस्था की गई है, जिससे जरुरत पड़ने पर गंभीर रोगियों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जा सके। वर्षाकाल में कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा ज्यादा होता है, लिहाजा एम्स प्रशासन ने एहतियातन कोविड रोगियों की सुविधा के लिए अतिरिक्त व्यवस्थाएं जुटाई हैं।

यह भी जानें- प्रदेश में कोरोना के कल मिले 64 मामले, अब तक 3048

RELATED ARTICLES

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments

error: Content is protected !!